Sunday, July 25, 2021
Home Tags Rakshabandhan

Tag: Rakshabandhan

how to celebrate bhai dooj in hindi best wishes photo image hd

Bhai Dooj 2021: जानिए भाई दूज के बारे मे ये महत्वपूर्ण जानकारी, Click here

भाई-दूज या भैया दूज को भाई टीका, यम द्वितीया, भ्रातृ द्वितीया आदि भी कहा जाता है। पंचांग के अनुसार, भाईदूज का पर्व कार्तिक मास में शुक्ल पक्ष की द्वितीया तिथि को मनाया जाता है। Deepawali हिन्दुओं का सबसे बड़ा त्योहार है और 5 दिन के त्योहार में पांचवे दिन मनाया जाता है, भाई दूज का पर्व। Bhai Dooj को यम द्वितीया भी कहा जाता है। भाई दूज का Festival भाई-बहन के रिश्ते पर आधारित पर्व है, जिसे बड़ी श्रद्धा और प्रेम के साथ मनाया जाता है। रक्षाबंधन के बाद, भाईदूज ऐसा दूसरा त्योहार है, जो भाई बहन के अगाध प्रेम को समर्पित है। ऐसे मनाते है भाईदूज का त्योहार-
Girls can tie Rakhi to Boyfriends

रक्षाबंधन: जानिए प्रेमी (Boyfriend) या पति (Husband) को राखी बांध सकते है, क्या ये...

इस रक्षाबंधन Girlfriend भी अपने BoyFriend के राखी बांध सकती है, जानने के लिए आगे पढें.. If a girl who is my crush wants to tie Rakhi on my wrist on Raksha Bandhan in Hindi | Trending Express लडके क्या करें, अगर गर्लफ्रेड (girlfriend) आपको राखी बांधती है, What should boys do in Rakshabandhan in Hindi उसे करने दो। यदि वह बाद में आपकी भावनाओं को खारिज कर देती है तो राखी एक भाई और एक बहन के बीच नहीं होगी, बल्कि एक पुरुष और एक महिला के बीच होगी, जो अच्छी भी है। यदि उसकी ओर से कोई रोमांटिक भावनाएँ नहीं हैं, तो कम से कम आपको एक बहन ’मिलती है, जो आने वाले वर्षों में आपकी अच्छी दोस्त बन सकती है।
Rakha Bandhan Date and Time for this year in hIndi

जानिए रक्षाबंधन में राखी किस हाथ में बांधे, क्या है इसके लाभ, क्यो मनाते...

इस बार रक्षाबंधन शुभ संयोग वाला और सौभाग्‍यशाली है, भाई की दाहिनी कलाई पर ही बहन को राखी बांधना चाहिए, आगे पढिए… रक्षाबंधन हर साल सावन के समापन के साथ पूर्णिमा के दिन मनाया जाता है, ये हमारे देश भारत के अलावा नेपाल और मॉरिशस में भी मनाया जाता है। रक्षाबन्धन एक हिन्दू व जैन त्योहार है ये भारत में प्रतिवर्ष श्रावण मास की पूर्णिमा के दिन मनाया जाता है। श्रावण महीनें में मनाये जाने के कारण इसे श्रावणी (सावनी) या सलूनो भी कहा जाता हैं। Raksha Bandhan में राखी या रक्षासूत्र का बहुत अधिक महत्त्व है। इस बार रक्षाबन्धन 3 अगस्त 2020 को यानि सावन के समापन के साथ पूर्णिमा के दिन मनाया जाएगा। और इसी दिन बहनें अपने भाइयों की कलाई पर रक्षा सूत्र बांधेंगी। और भाई बहनो को रक्षा का वचन देंगें।

जानिए नागपंचमी कैसे और क्यों मनाते है, क्या है इसके पीछे की कहानी |...

नागपंचमी को सही से मनाने का ये है सही तरीका, भोलेनाथ को सावन में इस दिन होते है खुश। आगे पढे Naag panchami Ko manane ka sahi tarika in Hindi | Sawan Rakshabandhan se pahale ki Nagpanchami Ki Kahani भगवान शिव को सांपों का देवता माना जाता है। इसलिए नागपंचमी के दिन भूलकर भी जीवित सांप की नहीं बल्कि नागदेवता की प्रतिमा की पूजा करनी चाहिए। नागपंचमी के पीछे की ये है पौराणिक कथा | nag panchami ki katha in Hindi

Recent Posts