Sunday, September 27, 2020
Home Tags Politics

Tag: Politics

Asaduddin Owaisi

Ram Mandir Bhoomi Pujan: BJP leader Invited Asaduddin Owaisi to Ram Bhoomi Pujan program

Krishna Sagar Rao has invited Asaduddin Owaisi to attend the ‘Bhoomi Pujan’ of the Ram temple in Ayodhya. A grand Ram temple is going to built at the birth place of Lord Ram, BJP is proud of it. Telangana BJP leader and chief spokesperson Krishna Sagar Rao has invited AIMIM chief Asaduddin Owaisi to attend the ‘Bhoomi Pujan’ of the Ram temple in Ayodhya.

Breaking News: सोनभद्र में नहीं है 3000 टन सोना, जानिए क्या है सच,...

सोनभद्र केे सोने की खोज होने के बाद से भारत पूरी दुनिया की नजर में आ गया है। पिछले 15 दिन से किया जा रहा है सर्वे खदान में 3000 हजार टन नहीं, बल्कि सिर्फ 160 किलो सोना होने का दावा किया है। यूपी के सोनभद्र जिले में सोना मिलने से पूरे देश में उत्साह का माहौल है। रिपोर्ट में बताया गया है कि करीब तीन हजार टन का सोने का भंडार सोनभद्र के नीचे दबा हुआ है। उत्तर प्रदेश प्रशासन ने इस बात की पुष्टि की है कि सोनभद्र के हरदी गांव के इलाके की दो पहाड़ियों में सोने, अयस्कों और यूरेनियम समेत कई धातुओं का बड़ा भंडार है। वहीं सोनभद्र के नीचे दबी सोने की चट्टान लगभग 1 किमी से ज्यादा लंबी और 19 मीटर गहरी है। पिछले 15 दिन से किया जा रहा है सोनभद्र में सर्वे Gold Mines in Sonbhadra latest update in Hindi and English सोनभद्र के हरदी गांव के इलाके के क्षेत्र के आसपास की पहाड़ियों में लगातार 15 दिनों से हेलिकॉप्टर से सर्वे किया जा रहा है। बताया जा रहा है कि हवाई सर्वे के माध्यम से यूरेनियम का भी पता लगाया जा रहा है। इसकी मौजूदगी की भी प्रबल संभावना जताई जा रही है। सोनभद्र के नीचे दबा सोना लगभग दो ट्रेनों के बराबर बताया जा रहा है. ये भी माना जा रहा है कि सोनभद्र का सोना मिलने से भारत के पास मौजूद सोने का भंडार कई गुना बढ़ा देगा. इसके साथ ही मौजूदा भंडार के मिलने से वो दुनिया में दूसरे नंबर पर आ जाएगा. सोनभद्र में 3000 टन सोना मिलने का दावा गलत, ये है सच्चाई खुद जीएसआई ने बताया कितना निकलेगा गोल्ड (सोना) जियोलजिकल सर्वे ऑफ इंडिया (जीएसआई) ने शनिवार को खदान में 3000 हजार टन नहीं, बल्कि सिर्फ 160 किलो सोना होने का दावा किया है। GSI के निदेशक डॉ जीएस तिवारी ने बताया कि सोनभद्र की खदान में 3000 टन सोना होने की बात जीएसआई नहीं मानता। सोनभद्र में 52806.25 टन स्वर्ण अयस्क होने की बात कही गई है न कि शुद्ध सोना। कीमती शुद्ध सोना लगभग 160 किलो सोना होने का दावा किया है।

Akhilesh Yadav’s life is in danger, A person entered the SP conference, shouted slogans...

Former CM Akhilesh Yadav created a sensation by saying that he received threats to kill him on the phone two days ago. Angry former Chief Minister strongly reprimanded the Talagram station in-charge. Samajwadi Party’s local office on Saturday, During the women’s conference held at the , a storm broke out when a young man suddenly started shouting slogans of Jai Shri Ram during the address of the party’s national president and former chief minister Akhilesh Yadav.

BJP सरकार बनायेगी ‘गायों के लिए हॉस्टल’, सभी Metro Cities के बीच में बनेगा...

प्नधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का सपना है कि किसान कि आय दुगनी हो सके। इसके लिए जैविक उत्पाद करने की जरूरत है। महानगरों के बीच में गायों के रहने के लिए ‘Cow Hostel’ बनाने से जैविक किस्म की खेती भी सरल हो जाएगी। गायों के लिए देशभर के सभी महानगरों के बीच में गायों के लिए हॉस्टल बनाए जाने चाहिए। ये कहना है केंद्रीय मंत्री का, कि महानगरों के बीच में गायों के रहने के लिए ‘Cow Hostel’ बनाने से जैविक किस्म की खेती भी सरल हो जाएगी उत्तर प्रदेश के नोएडा में आयोजित एक कार्यक्रम में शामिल हुए केंद्रीय मंत्री Purushottam Rupala arrived at the multi-layer farming training camp in Noida from 14 to 16 February. Addressing the people present in this camp, he said, “There was already organic farming in India. Just need to explain to the farmers. All of us should think about how to double the income of the farmer. This requires an organization to be set up. We all have to work together for the farmers.

NRC Full Form and Explanation in Hindi | एनआरसी की पूरी जानकारी हिन्दी में...

NRC Full Form and Explanation in Hindi | एनआरसी की पूरी जानकारी हिन्दी में | What is NRC Bill एनआरसी का पूरा नाम (Full Form) नैशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजन बिल है। इसका मकसद अवैध रूप से भारत में अवैध रूप से बसे घुसपैठियों को बाहर निकालना हैं, न कि यहां के नागरिकों को। NRC राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर भारत के राष्ट्रीय नागरिक पंजी में उन भारतीय नागरिकों के नाम हैं जो असम में रहते हैं। इसे भारत की जनगणना 1951 के बाद 1951 में तैयार किया गया था। 31 दिसंबर 2017 को बहु-प्रतीक्षित राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (NRC) का पहला ड्राफ्ट प्रकाशित किया गया।

Recent Posts