Tuesday, January 25, 2022
Home Tags Bhagavad Gita And Diet

Tag: Bhagavad Gita And Diet

महाभारत में भीष्म पितामह ने अर्जुन को सिखाया भोजन करने का तरीका

भीष्म पितामह ने अर्जुन को चार प्रकार के भोजन न करने को कहा था, आगे पढिऐ… पहला ये भोजन न ग्रहण करें- जिस भोजन की थाली को कोई लांघ कर चला जाये, वह भोजन की थाली नाली में पड़े कीचड़ (गंदगी) के समान होती है। उसे ग्रहण नही करना चाहिए। दूसरा इस प्रकार भोजन न करें- ऐसी भोजन की थाली जिसमें ठोकर लग गई हो, पाव लग गया वह भोजन की थाली भिष्टा के समान होता है, इस भोजन को खाना उचिक नही है। तीसरे प्रकार का भोजन न लें- जिस भोजन की थाली में सिर का बाल पढा हो, केश गिर गया हो वह दरिद्रता के संकेत होता है।।

Recent Posts