सोनभद्र केे सोने की खोज होने के बाद से भारत पूरी दुनिया की नजर में आ गया है। पिछले 15 दिन से किया जा रहा है सर्वे

खदान में 3000 हजार टन नहीं, बल्कि सिर्फ 160 किलो सोना होने का दावा किया है।

यूपी के सोनभद्र जिले में सोना मिलने से पूरे देश में उत्साह का माहौल है। रिपोर्ट में बताया गया है कि करीब तीन हजार टन का सोने का भंडार सोनभद्र के नीचे दबा हुआ है।

उत्तर प्रदेश प्रशासन ने इस बात की पुष्टि की है कि सोनभद्र के हरदी गांव के इलाके की दो पहाड़ियों में सोने, अयस्कों और यूरेनियम समेत कई धातुओं का बड़ा भंडार है। वहीं सोनभद्र के नीचे दबी सोने की चट्टान लगभग 1 किमी से ज्यादा लंबी और 19 मीटर गहरी है।

पिछले 15 दिन से किया जा रहा है सोनभद्र में सर्वे

Gold Mines in Sonbhadra latest update in Hindi and English

सोनभद्र के हरदी गांव के इलाके के क्षेत्र के आसपास की पहाड़ियों में लगातार 15 दिनों से हेलिकॉप्टर से सर्वे किया जा रहा है। बताया जा रहा है कि हवाई सर्वे के माध्यम से यूरेनियम का भी पता लगाया जा रहा है। इसकी मौजूदगी की भी प्रबल संभावना जताई जा रही है।

सोनभद्र के नीचे दबा सोना लगभग दो ट्रेनों के बराबर बताया जा रहा है. ये भी माना जा रहा है कि सोनभद्र का सोना मिलने से भारत के पास मौजूद सोने का भंडार कई गुना बढ़ा देगा. इसके साथ ही मौजूदा भंडार के मिलने से वो दुनिया में दूसरे नंबर पर आ जाएगा.

किन देशों के पास है कितना सोना

विश्व में सोने के भंडार में इस वक्त अमेरिका पहले नंबर पर है। अमेरिका के पास 8,134 टन सोने का रिजर्व है। तो वहीं इस वक्त जर्मनी के पास 3,367 टन और तीसरे नंबर पर अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा फंड के पास 2,815 टन सोना बताया जा रहा है।

ये भी पढें-

भारत में सबसे ज्यादा सोना कर्नाटक की हुत्ती खदान से निकाला जाता है। इस लिहाज से भारत में कर्नाटक सोने का सबसे बड़ा उत्पादक राज्य है। इसके बाद आंध्र प्रदेश, दूसरा सबसे बड़ा सोना उत्पादक राज्य है। इनके अलावा झारखंड, केरल और मध्य प्रदेश में भी सोना की छोटी-बड़ी खदानें हैं।

Uttar Pradesh Sonbhadra में सोने की खोज होने के बाद से भारत पूरी दुनिया की नजर में आ गया है। सोनभद्र की पहाड़ियों के भीतर सोने का पता लगाने वाले डॉक्टर मिश्रा ने मीडिया के बताया कि जमीन के नीचे सोने का भंडार पास ही पास मौजूद है जो कि दो हिस्सों में बंटे हुए हैं.

ये है सोनभद्र के सोने का इतिहास (History of Sonbhadra Gold Mins in Hindi)

भारत में अंग्रेजों के शासनकाल में भी इस सोने के भंडार के बारे में पता करने की कोशिश की गई थी लेकिन वे इसमें सफल नहीं हो पाए थे. इस खजाने को खोजने के लिए भारत को 40 साल का लंबा वक्त लग गया|

सोनभद्र में 3000 टन सोना मिलने का दावा गलत, ये है सच्चाई

खुद जीएसआई ने बताया कितना निकलेगा गोल्ड (सोना)

जियोलजिकल सर्वे ऑफ इंडिया (जीएसआई) ने शनिवार को खदान में 3000 हजार टन नहीं, बल्कि सिर्फ 160 किलो सोना होने का दावा किया है। GSI के निदेशक डॉ जीएस तिवारी ने बताया कि सोनभद्र की खदान में 3000 टन सोना होने की बात जीएसआई नहीं मानता। सोनभद्र में 52806.25 टन स्वर्ण अयस्क होने की बात कही गई है न कि शुद्ध सोना। कीमती शुद्ध सोना लगभग 160 किलो सोना होने का दावा किया है।

आपको आपको ये जानकारी कैसी लगी हमें कमेंट करके जरुर बताये| और ऐसी ही रोचक और इंट्रेस्टिंग जानकारियों के लिए Share जरुर कीजिए

Posted by: Anshika Yadav

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here