Panki Temple Photos and Videos

कानपुर का प्रसिद्ध पनकी मंदिर का इतिहास और मंदिर की सम्पूर्ण जानकारी | Panki Temple Photos and Videos

यूपी के कानपुर में एक ऐसा मंदिर है, जहां पर जाकर आपके बिगड़े काम बन जाते हैं। पनकी हुनमान मंदिर व श्री पंचमुखी हनुमान कानपुर उत्तर प्रदेश, का ये प्राचीन व प्रसिद्ध मंदिर जो कि बजरंगबली भगवान को पूर्ण रूप से समर्पित है।

पनकी हनुमान जी के आर्शिवाद व दर्शन से पूरी होती है मनोकामना

Panki’s wishes are fulfilled by the blessings and darshan of Hanuman ji.

पनकी हनुमान मंदिर में भगवान हनुमान जी का आशीर्वाद लेने के लिए सिर्फ कानपुर से ही नहीं अपितु पूरे भारत से आते है। इस मंदिर में जो व्यक्ति सच्चे मन से भगवान हनुमान की आशीर्वाद व दर्शन हेतु आता है उसकी मनोकामना पूरी होती है।

पनकी मंदिर की स्थापना | Establishment of Panki Temple

मंदिर के इतिहास के बारे में कोई वास्तविक साक्ष्य उपलब्ध नहीं है, लेकिन पौराणिक कथा के अनुसार, ये मंदिर करीब 400 बर्ष पुराना है। इसकी स्थापना श्री 1008 महंत परषोतम दास जी ने की थी।

कहां है पंचमुखी हनुमान जी का पनकी मंदिर

Where is Panki temple of Panchmukhi Hanuman ji

उत्तर प्रदेश के कानपुर में सेंटर स्टेशन से लगभग 15 किलोमीटर की दूरी पर पनकी स्थित हनुमानजी का मंदिर है जिसे पनकी मंदिर के नाम से भी जाना-पहचाना जाता है। यहां पर लाखों श्रद्धालु दूर-दूर आते हैं। ऐसी मान्यता है कि हनुमानजी का ये मंदिर बेहद प्राचीन है।

इधर आने वाले सभी भक्तों की मन्नतें पूरी होती हैं। यहां के लोग कहते हैं कि ये मंदिर करीब 400 बरस पुराना है। इसकी स्थापना श्रीश्री 1008 महंत पुरुषोत्‍तमदासजी ने की थी।

ये है पनकी का इतिहास | History of Panaki Baba Mandir

ऐसा भी माना जाता है कि कानपुर शहर की स्थापना से पूर्व ही पनकी हनुमान मंदिर स्थापित हुआ था। लोगो का ऐसा मानना है कि महंत जी एक बार चित्रकूट से लौट रहे थे। तब जिस स्थान पर पनकी का मंदिर है, वहां पर महंत जी को एक इस तरह की चट्टान दिखी जिस पर हनुमान जी को देखा जा सकता था।

तब उन्होंने तब ही उस स्थान पर मंदिर का निर्माण करने का फैसला किया। आज वहीं मंदिर पनकी मंदिर के नाम से जाना जाता है।

पनकी मंदिर में भगवान हनुमान का दिव्य रुप

Divine Form of Lord Hanuman in Panki Temple

ऐसा माना जाता है कि पनकी मंदिर में भगवान हनुमान को दिव्य रूप में देखा जाता है। ऐसा लगता है कि भगवान के चेहरे की उपस्थिति एक दिन में तीन बार बदलती है। सुबह में सूर्य की बढ़ोतरी के साथ भगवान का चेहरा एक बाल हनुमान के रूप में देखा जा सकता है।

दोपहर के दौरान भगवान का चेहरा युवा (ब्रह्मचारी) के रूप में देखा जाता है। शाम तक भगवान हनुमान को महापुरुष (तेजस्वी) के रूप में देखा जाता है।

मंगलवार को आते है बहुत बड़ी संख्या में श्रद्धालू

A large number of devotees come on Tuesday | Panki Mandir Open Today

पनकी हनुमान मंदिर में काफी बड़ी संख्या में लोग दर्शन हेतु आते है, परन्तु प्रत्येक मंगलवार और बुढ़वा मंगल के दिन बहुत बड़ी संख्या में, प्रशासन को भी विशेष इन्तजाम करने पड़ते है, आर्शिवाद व दर्शन हेतु आते है।

कानपुर का प्रसिद्ध पनकी हनुमान मंदिर की जानकारी को Whatsapp, Facebook and Twitter पर शेयर और फारवर्ड जरुर करें

Posted by: Kalpana Yadav

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here