Happy Ganesh Chaturthi photo hd download wishes in hindi lord

हिंदू धर्म की मान्यताओं के अनुसार भगवान गणेश के जन्म से जुड़ी कई कहानियां हैं। जिसमें गणेश चतुर्थी और स्थापना का जिक्र है, आगे पढें

how is ganesh chaturthi celebrated in India in hindi | Shree Ganesh chaturthi katha in hindi

भारत में हर साल बडे जश्न के साथ मनाया जाने वाला गणेश चतुर्थी का त्यौहार फिर से आने बाला है। इसमें भव्य पंडालों और रंग बिरंगी मुर्तियों के साथ इस महोत्सव का वातावरण ही कुछ और होता है।

गणेश चतुर्थी हिंदूओं के प्रमुख त्योहारों में से एक दस दिन तक चलने वाला त्यौहार होता है जिसमें वो अपने देवता गणेश के जन्म के तौर पर मनाते हैं।

सभी देवताओं में सबसे पहले होती है श्री गणेश की ही पूजा

भगवान गणेश, भोलेबाबा और पार्वती के बेटे हैं। भगवान गणेश को 108 नामों से जाना जाता है। हिन्दू धर्म में सभी देवताओं में सबसे पहले श्री गणेश की ही पूजा की जाती है। उसके बाद अन्य देवताओं की पूजा होती है।

ये है गणेश चतुर्थी मनाने के पीछे की कहानी, इसलिए मनाई जाती है Ganesh Chaturthi

गणेश चतुर्थी के इतिहास में प्रचलित ये है सबसे पहली कहानी

गणिपति जी के जन्म की कहानी कुछ यूं है वो कहते हैं कि देवी पार्वती ने अपने शरीर से उतारी गई मैल से बनाया था। जब वो नहाने गई तो गणेश को अपनी रक्षा के लिए बाहर खडा कर दिया।

शंकर भगवान जो पार्वती के पति हैं जब घर लौटे तो अपने पिता से अनजान गणेश ने उन्हें रोकने की कोशिश की जिससे शिव को क्रोध आ गया और उन्होने गणेश जी का सिर काट कर अलग कर दिया।

फिर जब पार्वती को इस सब के बारे में पता चला तो वो भालेबाबा से नाराज हो गई जिस पर शिव ने उन्हें गणेश का जीवन वापस लाने का वादा कर उन पर हाथी का सिर लगा दिया, और इस तरह फिर से गणेश का जीवन वापस मिला।

गणेश चतुर्थी के इतिहास में प्रचलित ये है दूसरी कहानी

देवताओं के अनुरोध करने पर शिव और गौरा ने गणेश को बनाया था, जिससे वो असुरों का वध कर सकें और यही कारण है कि उन्हें विघनकर्ता भी कहा जाता है। और ये नाम ही उनके 108 नामों में से एक है।

कहां मनाया जाता है गणेश चतुर्थी का त्योहार

भारत में महाराष्ट्र राज्य इस त्यौहार को मनाने के लिए सबसे ज्यादा प्रसिद्ध है। वैसे तो ये त्योहार पूरे देश में बडी धुमधाम से मनाया जाता है। पर सबसे ज्यादा प्रसिद्ध है। विदेशो में भी इसे मनाया जाती हैॆॆॆ।

Trending Express

कैसे मनाया जाता है गणेश चतुर्थी का त्योहार

यह पूजा करने के 4 मुख्य रीति-रिवाज होते हैं इसमें सबसे पहला है, त्यौहार के पहले दिन घर में मूर्ति के स्थापन के साथ शुरू होता है इसके बाद दूसरा, गणेश के 16 रूपों की पूजा की जाती है।

10 lines on lord ganesha in hindi | About Ganesh Chaturthi in Hindi

इस त्योहार के तीसरे रिवाज में, गणेश की प्रतिमा को स्थानांतरित किया जाता है और इसके चौथे और अन्तिम रिवाज में इस प्रतिमा को विसर्जित कर दिया जाता है, जिसे गणपति विसर्जन के रूप में मनाया जाता है।

ऐसे होती है गणेश जी की मूर्ती की स्थापना, ये है सही विधि

इस वर्ष विघ्नहर्ता गणपति का गणेश उत्सव भाद्रपद शुक्ल पक्ष चतुर्थी 22 August शनिवार को मनाया जाएगा। इस दिन भक्त अपने घर में भगवान गणेश को स्थापित करते हैं। 10 दिन बाद अनंत चतुर्दशी के दिन भगवान गणपति को जल में विसर्जित किया जाता है।

Bhagwan Ganesha Murti Sthapana Timing and Vidhi

इस वर्ष 21 August को 11:01 बजे सुबह चुतुर्थी शुरू हो जाएगी। 22 August को 7.56 शाम तक चुतुर्थी तिथि रहेगी। इसमें राहुकाल को हटाकर गणपति की स्थापना की जा सकती हैं।

पूजन का शुभ मुहूर्त दोपहर 12:44 बजे है। विशेष मुहूर्त सुबह 11:46 से दोपहर 12:47 से है। पूजन का शुभ मुहूर्त दोपहर 12:44 बजे है। विशेष मुहूर्त सुबह 11:43 से दोपहर 12:46 से है।

आपको ये जानकारी केैसी लगी हमें कमेंट करके जरुर बताऐ, अपने दोस्तो के साथ जरुर शेयर करें।

Written by: Anshika Gupta

Posted by: Moni Singh

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here